Browsing Category

ARTICLES

“आओ, हम यहोवा की ओर फिरें” होशे 6:1

कोविड 19 महामारी दुनिया भर में, खासकर भारत में व्याप्त है। दूसरी लहर पहली लहर से ज्यादा भयानक होती है। राष्ट्र के नेता, शासक और चिकित्सा आपूर्ति सभी विफल और निष्क्रिय हैं। भारत अब पहली लहर में अमेरिका से भी बदतर स्थिति का सामना कर रहा है।

देश की चंगाई

2 इतिहास 7:14 इन दिनों दुनिया के देश खासकर हमारा देश भारत कोविड 19 की घातक महामारी का सामना कर रहा है। दूसरी लहर कोविड 19 की पहली लहर से भी ज्यादा भयानक, चेहरे के साथ दिखाई दी। आज दुनिया की स्थिति, विशेष रूप से भारत में, मिस्र में महल

यीशु मसीह के द्वारा विजय

परमेश्वर का धन्यवाद हो, जो हमारे प्रभु यीशु मसीह के द्वारा हमें जयवन्त करता है। 1 कुरिन्थियों 15:57प्रिय,मसीह में आपको जय मसीह की। अगर आप आज का वचन ग्रहण करते हो तो आप हर क्षेत्र में जीतोगे, कोई भी बुरी ताकत आपको हरा नहीं पाएगी लेकिन

ईश्वरीय समझ रखें

जो व्यवस्था का पालन करता वह समझदार सुपूत होता है, परन्तु उड़ाऊ का संगी अपने पिता का मुंह काला करता है। नीतिवचन 28:7 प्रिय, मसीह में आपको जय मसीह की। जब आप मसीह में दाखिल होते हैं या जब आप नया जीवन प्राप्त करते हैं तो आप छोटे बच्चे

नए होने के लिए तैयार हो जाओ

जो सिंहासन पर बैठा था, उस ने कहा, कि देख, मैं सब कुछ नया कर देता हूं: फिर उस ने कहा, कि लिख ले, क्योंकि ये वचन विश्वास के योग्य और सत्य हैं। प्रकाशित वाक्य 21:5 प्रिय,मसीह में आपको जय मसीह की। आज के दिन परमेश्वर आपको बदलने वाला है।

महिमा के लिए बुलाहट

यह कहकर यीशु ने बड़े शब्द से पुकारा, कि हे लाजर, निकल आ। जो मर गया था, वह कफन से हाथ पांव बन्धे हुए निकल आया और उसका मुंह अंगोछे से लिपटा हुआ तें यीशु ने उन से कहा, उसे खोलकर जाने दो॥ यूहन्ना 11:43 मसीह में आपको जय मसीह की। मसीह में

परमेश्वर कभी बदलेगा नहीं

क्योंकि मैं यहोवा बदलता नहीं; इसी कारण, हे याकूब की सन्तान तुम नाश नहीं हुए। मलाकी 3:6 मसीह में आपको जय मसीह की, प्रिय मित्र आधुनिक मसीह युग में ज़्यादातर मसीह को जानने वाले जो सही से जीवित मसीह को नहीं जानते वे भ्रम में और झूठी शान सी

अपने आप पर नियंत्रण रखना

अपने पर नियन्त्रण रखो। सावधान रहो। तुम्हारा शत्रु शैतान एक गरजते सिंह के समान इधर-उधर घूमते हुए इस ताक में रहता है कि जो मिले उसे फाड़ खाए। उसका विरोध करो और अपने विश्वास पर डटे रहो क्योंकि तुम तो जानते ही हो कि समूचे संसार में तुम्हारे

परमेश्वर की दृष्टि में धर्मी बने रहना

जो मनुष्य परमेश्वर की दृष्टि में अच्छा है, उसको वह बुद्धि और ज्ञान और आनन्द देता है; परन्तु पापी को वह दु:खभरा काम ही देता है। सभोपदेशक 2:26 मसीह में आपको जय मसीह की, प्रिय दोस्त आप जानते हैं कि हम मनुष्य की नज़र में अधर्मी होकर भी

परमेश्वर पर ध्यान केन्द्रित करने के लिए प्रतिदिन समय निकालें

जो मुझ में बना रहता है, वह बहुत फल फलता है, क्योंकि मुझ से अलग होकर तुम कुछ भी नहीं कर सकते। यूहन्ना 15:5 हमारे लिए प्रतिदिन परमेश्वर पर ध्यान केन्द्रित करना अति महत्वपूर्ण है। कुछ लोग इसे "मौन समय" कहते हैं। अन्य लोग इसे "भक्तिमनन"