परमेश्वर का सामर्थी हाथ “हाउस ऑफ़ होप चर्च” द्वारा गरीब लोगों की सहायता|

0 28

- Advertisement -

BY SHALOM DHWANI HINDI NEWS DESK
Preethi

GURGAON: एक सुंदर गवाही! जो हमें प्रोत्साहित करती है कि जब हम अपने सीमित संसाधनों से विश्वास के साथ कदम को उठाना शुरू करते हैं तब कैसे परमेश्वर हमारी सहायता करते हैं|

लॉक डाउन के तुरंत बाद, जैसा कि सभी संघर्ष और अभाव के दौर से गुजर रहे थे, जो मुश्किल समय और जरूरतों से गुजर रहे लोगों तक पहुंचने के लिए प्रभु के दास पास्टर जीजो वर्गीस द्वारा (चर्च- हाउस ऑफ़ होप) के दिल में एक बोझ पैदा हुआ|

तब उन्होंने उनके हाथ में जो कुछ भी था उससे शुरू किया था लेकिन यह उन्होंने अपनी ताकत और क्षमता से कहीं अधिक बढ़कर दिया।

वर्ष 2020 में, कोविद काल और उसके बाद, हाउस ऑफ होप चर्च गुरुग्राम के प्रभु के दास पास्टर जीजो वर्गीस द्वारा जरूरतमंद और पीड़ित लोगों की मदद करने में ₹2,25,000/- खर्च किए गए!!!

निम्नलिखित कार्य जिसके द्वारा सहायता की गई:-

-100 से अधिक जरूरतमंद परिवारों को एक महीने का राशन देकर।

  • कई पीड़ित परिवारों को चिकित्सा सहायता प्रदान करके।
  • गरीब पृष्ठभूमि के स्कूली बच्चों के लिए फीस भुगतान करके।
  • उन परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान करके जो कोविद के दौरान नौकरी खो चुके थे और बहुत कठिन समय से गुजर रहे थे।
  • झुग्गी बस्ती में भोजन वितरित करके।
  • अनाथालय, मनोरोग आश्रम और वृद्धाश्रम के लिए राशन देकर।
  • पीड़ित मिशनरियों को वित्तीय सहायता भेजकर।
  • एक जरूरतमंद व्यक्ति को सेकेंड हैंड बाइक गिफ्ट करके।
  • गरीब परिवारों, सड़क और फुटपाथ में सो रहे 201 लोगों को कंबल वितरित करके।

यह एक चमत्कारी गवाही है जहां परमेश्वर ने हाउस ऑफ होप कलीसिया के प्रभु के दास पास्टर जिजो वर्गीस के कार्य द्वारा अपने अद्भूत प्रेम को उन लोगो के बीच में प्रदर्शित किया। जो कुछ भी प्रभु के श्रेष्ठ दास ने किया, यह विश्वास के द्वारा छोटे चरणों के साथ शुरू हुआ।

यीशु ने कहा था “लेने से देना भला है”।

प्रभु के दास का उद्देश्य है कि लोगो के ह्रदय में प्रभु यीशु का प्रेम और विश्वास पैदा हो और साथ ही साथ हम सब मसीह में एक देह (परिवार) समान एक दूसरे को सहायता प्रदान करे। इसके द्वारा मसीह भाई-बहनों को प्रोत्साहित करना है कि वे भी एक दूसरे की जरूरत के समय सहायता करे।

यह केवल प्रभु यीशु की महिमा के लिए हो।

Comments
Loading...
error: Content is protected !!