किसानों का भारत बंद

0 286

- Advertisement -

नई दिल्ली, एजेंसियां। नएकृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर पिछले 12 दिनों से प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आज ‘भारत बंद’ का आह्वान किया है। आम आदमी पार्टी (आप) ने ट्वीट करके दावा किया है कि सोमवार को सीएम अरविंद केजरीवाल के सिंघु बॉर्डर पर जाने के बाद दिल्ली पुलिस ने उन्हें घर में नजरबंद कर लिया है। वहीं दिल्ली पुलिस ने इस दावे को खारिज किया है। प्रदर्शन के मद्देनजर सिंघु बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात हैं। किसानों और केंद्र सरकार के बीच इसे लेकर कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन अभी तक कोई नतीजा नहीं निकल सका है।
किसान यूनियनों ने कहा है कि वे सरकार द्वारा प्रस्तावित किए जा रहे कृषि कानूनों में संशोधन से संतुष्ट नहीं हैं। दोनों के बीच कल (बुधवार) को फिर बातचीत होनी है। किसान नेताओं ने कहा है कि किसी को भी बंद में शामिल होने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। लगभग सभी विपक्षी दलों और कई ट्रेड यूनियनों ने ‘भारत बंद’ और किसानों का समर्थन करने का फैसला किया है। इसके मद्देनजर केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को सुरक्षा कड़ी करने और कोरोना वायरस (COVID-19) को लेकर दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए एक एडवाइजरी जारी की है।

– किसानों ने लागत के लिए अतिरिक्त मूल्य की मांग की थी और हम उन्हें लागत से 50% ऊपर दे रहे हैं। कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में कभी कोई पेशकश नहीं की। यह देने वाले पीएम मोदी हैं। विपक्ष जो इन कानूनों को वापस लेने के लिए कह रहा है वह पाखंडी है क्योंकि उन्होंने सत्ता में रहते हुए कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग एक्ट पारित किया था। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में इन कानूनों को लाने की बात कही थी

यह आप और किसी भी अन्य पार्टी के बीच टकराव से बचने के लिए एक सामान्य तैनाती है। सीएम को नजरबंद नहीं किया गया। डीसीपी नॉर्थ एंटो अल्फोंस ने यह बात कही है। उन्होंने कहा कि उन्हें नजरबंद करने कि बात बिल्कुल गलत है। दिल्ली के सीएम होने के नाते वह जहां चाहे घूम सकते हैं। 

Comments
Loading...