महाराष्ट्र में प्रभु के दास सैम के. मथाई ने हज़ारों प्रवासी के लिए भोजन कि व्यवस्था कराई

0 17

- Advertisement -

जैसा की हम सब जानते है कि पूरे देश में कोरोना वायरस के कारण महामारी और भूख मरी फैली हुई है। जिसके कारण वायरस से कई लोगो कि मौत हो चुकी है। कई लोग बिना खाना खाएं, पानी पिएं मर रहे है। ऐसे में कई बच्चे माता पिता से और कई माता पिता बच्चे से दूर हो चुके है। इस महामारी के कारण कई लोग एक स्थान से दूसरे स्थान नहीं सकते है और कई लोग बेरोजगार हो चुके है, जिस काम से वो रोजी करके रोटी खाया करते है, वह आश भी अब जा चुकी है। ऐसे में कुछ गरीब लोग ना केवल इस कोरोना वायरस से मर रहे है बल्कि कुछ लोग भूख से भी मर रहे है।

हम ऐसे में देखते है कि महाराष्ट्र के प्रभु के दास सैम के. मथाई ने देखा, कि कुछ लोग उत्तर भारतीय राज्यों में ट्रैन पकड़ने के लिए हज़ारों प्रवासी में रोज़ आते हैं। परमेश्वर ने ऐसे में उनके मनो में डाला कि उनको भोजन कि व्यवस्था कराई जाए। इस प्रकार परमेश्वर (यीशु मसीह) की आज्ञा को मानते हुए कि “मैं भूखा था तुमने मुझे खाने को नहीं दिया, मैं प्यासा था तुमने मुझे पानी नहीं पिलाया” (मत्ती 25:35) इस वचन के अनुसार 31 मई 2020 के पिछले 15 दिनों से उन्होंने उनके चर्च से सैंकड़ो जरुरतमंद लोगो को खिचड़ी, केला, बिस्कुट, ब्रेड और बोतल में पानी देने में भारी मात्रा में लोगो कि सहायता की। परमेश्वर पास्टर सैम के. मथाई और उनके चर्च को के लिए प्रार्थना करें कि परमेश्वर उन्हें बहुतायत से आशीष दे और लगातार अपनी महिमा के लिए इस्तेमाल करें।

Comments
Loading...
error: Content is protected !!