सुपर साइक्लोन अम्फान कल 155 से 165 किमी/घंटे की रफ्तार से सुंदरबन के पास तट से टकराएगा, बंगाल और ओडिशा में 14 लाख लोग शिफ्ट हुए

0 17

- Advertisement -

कोलकाताl सुपर साइक्लोन अम्फान मंगलवार को बंगाल की खाड़ी के दक्षिण और मध्य हिस्से में पहुंच गया। बुधवार दोपहर बाद यह बंगाल और बांग्लादेश के बीच सुंदरबन के पास तट से 155 से 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से टकराएगा। इस दौरान तटीय क्षेत्रों में 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। ओडिशा और बंगाल में कई जगहों पर आंधी के साथ बारिश शुरू हो गई है। मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा के साथ ही सिक्किम और मेघालय के लिए भी अलर्ट जारी किया है।

सुपर साइक्लोन अम्फान का असर शुरू

सुपर साइक्लोन अम्फान के आने से पहले ही इसका असर शुरू हो गया है। पश्चिम बंगाल के दिघा में मंगलवार को तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। वहीं, कोलकाता में भी तेज बारिश और हवाएं चलीं।

ओडिशा के 6 और बंगाल के 7 जिलों पर असर होगा

मौसम विभाग के मुताबिक, तूफान से ओडिशा के 6 जिले केंद्रापाड़ा, भद्रक, बालासोर, मयूरभंज, जाजपुर और जगतसिंहपुर सबसे ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं। वहीं, पश्चिम बंगाल के तीन तटीय जिले पूर्वी मिदनापोर, 24 दक्षिण और उत्तरी परगना के साथ ही हावड़ा, हुगली, पश्चिमी मिदनापुर और कोलकाता पर इसका असर नजर आएगा।

तूफान के करीब आने के साथ हवा तेज होगी

दक्षिण तटीय ओडिशा में फिलहाल 70 से 75 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चल रही है। बुधवार सुबह इसकी रफ्तार 75 से 85 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंचेगी। साइक्लोन के करीब आने के साथ हवा की रफ्तार बढ़ने लगेगी। पहले यह 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे रहेगी और जब साइक्लोन तट को पार करेगा तो इसकी रफ्तार 155 से 165 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।

यह बड़ी प्राकृतिक आपदा है, सतर्क रहें

मौसम विभाग का कहना है कि यह कई प्रकार का नुकसान पहुंचाने वाली प्राकृतिक आपदा है। इसमें तेज हवा, भारी बारिश और बिजली कड़कने की आशंका है। ऐसे में लोग घर से बाहर न निकलें। समुद्री किनारों से दूर रहें। बोटिंग, फिशिंग और शिपिंग न करें। कच्चे घर, बिजली के खंभों, पावर लाइन और रेलवे सुविधाओं को नुकसान होने की आशंका है। रोड और रेल नेटवर्क को बंद किया जाए या डायवर्ट किया जाए।

Comments
Loading...
error: Content is protected !!