कोरोना दुनिया में:- अब तक 45.43 लाख संक्रमित: डब्लूएचओ ने कहा- वैक्सीन या दवा जब आए , तभी रुकेगी महामारी

0 15

- Advertisement -

By MANOJ KUMAR

वॉशिंगटन. दुनिया में अब तक 45 लाख 43 हजार 250 लोग संक्रमित हो चुके हैं। 17 लाख 13 हजार 215 ठीक हो चुके हैं। मौतों का आंकड़ा 3 लाख 03 हजार 707 पर पहुंच गया है। कोरोनावायरस के वैक्सीन और दवा पर कई देशों में रिसर्च जारी हैं। इजराइल और इटली ने तो इसमें सफलता के दावे भी किए हैं। अब डब्लूएचओ ने कहा है कि कोई भी वैक्सीन या दवा दुनिया के लिए तभी कारगर साबित होगी जब इसका फायदा सभी को मिले।

डब्लूएचओ : अहम बात

डब्लूएचओ के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस एडहेनोम ने शुक्रवार रात एक अहम बात कही। उन्होंने कहा, “कोविड-19 के लिए वैक्सीन और दवाओं पर कई देशों में रिसर्च किया जा रहा है। हमें उम्मीद है कि इसमें जल्द सफलता मिलेगी। लेकिन, एक बात ध्यान में रखना होगी। अगर यह दवाएं या वैक्सीन सभी लोगों को बराबरी से नहीं मिलीं तो महामारी को खत्म नहीं किया जा सकेगा। लिहाजा, हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि दवा हो या वैक्सीन, ये सभी को बराबरी से मुहैया हो।”

अमेरिका : नई चिंता

‘द गार्डियन’ के मुताबिक, अमेरिका में करीब 25 हॉटस्पॉट्स हैं। इनमें से 12 ऐसे हैं जिनके संक्रमित कहीं न कहीं मीट कारोबार से जुड़े हुए हैं। छोटे शहरों और दूर-दराज के इलाकों में कई मामले सामने आ चुके हैं। सरकार ने जब इस बारे में जांच की तो इन हॉटस्पॉट्स का मीट बिजनेस कनेक्शन सामने आया। अब मांग उठने लगी है कि इन जगहों के लिए नई और ज्यादा सख्त गाइडलाइंस तय की जाएं।

ब्राजील : अजीब व्यवस्था

महामारी का दौर जारी है। दो लाख से ज्यादा संक्रमित इस देश में मिल चुके हैं। राष्ट्रपति बोल्सानोरो पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं। एक महीने में उन्होंने दूसरा स्वास्थ्य मंत्री बदल दिया। शुक्रवार रात नील्सन टेच ने इस्तीफा दे दिया। राष्ट्रपति से उनके कई मुद्दों पर मतभेद थे। मीडिया में भी इसकी चर्चा थी। इसके पहले एक हेल्थ मिनिस्टर को उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ही इस्तीफा देने को कह दिया था।

ईरान : बेहद मुश्किल दौर

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता कियानोश जहानपुर ने शुक्रवार रात संकेत दिए कि देश में संक्रमण बढ़ता जा रहा है। 24 घंटे में यहां दो हजार 102 नए मामले सामने आए। कुल मामले एक लाख 16 हजार से ज्यादा हो गए हैं। 24 घंटे में 48 लोगों की मौत हो गई। अब तक कुल 6 हजार 902 लोग दम तोड़ चुके हैं। 6 अप्रैल के बाद शुक्रवार को सबसे ज्यादा लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।

इटली : बड़ा फैसला

इटली के लोग 3 जून से देश के अंदर कहीं भी यात्रा कर सकेंगे। सरकार ने इस बारे में ड्राफ्ट तैयार कर लिया है। इसका ऐलान भी रविवार तक किया जा सकता है। अर्थव्यवस्था सुधारने के लिए भी कई उपाय किए जा रहे हैं। छोटी दुकानें खोलने की मंजूरी पहले ही दी जा चुकी है। अब बड़े कारोबार या फैक्ट्रियां भी शुरू की जाएंगी। सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्रों के लिए अलग गाइडलाइंस जारी की जा सकती हैं।

बेल्जियम : बुजुर्गों पर टैक्स की मांग

यहां एक इकोनॉमिस्ट ने सुझाव दिया है कि उम्रदराज लोगों पर स्पेशल टैक्स लगाया जाना चाहिए। इस टैक्स का इस्तेमाल युवाओं की मदद के लिए किया जाना चाहिए। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर जेन एमेनुएल डि नेवे ने कहा- संक्रमण से बुजुर्ग ज्यादा प्रभावित हुए। लेकिन, खामियाजा युवाओं को भुगतना पड़ा। उनका रोजगार छिन गया और वो घरों में कैद हो गए। बुजुर्गों को यह समझना चाहिए। उन पर लगाए टैक्स का इस्तेमाल सरकार युवाओं की भलाई में करे।

चेक रिपब्लिक : 300 लोग जुटेंगे

सरकार यहां इस महीने के आखिर तक एक जगह 300 लोगों को जुटने की मंजूरी देने का फैसला ले चुकी है। हेल्थ मिनिस्टर एडम वोज्टेक ने कहा- बाकी राहतों के साथ हम खेल गतिविधियां भी फिरू शुरू करने जा रहे हैं। यह 25 मई से होगा। रेस्टोरेंट्स और पब भी पहले की तरह खुलेंगे। शॉपिंग सेंटर्स, सिनेमा और हेयर सैलून भी खुलेंगे। यहां कुल 8 हजार 352 केस हैं। 293 की मौत हो चुकी है। 8 जून से 500 और 22 जून से एक हजार लोगों को जुटने की मंजूरी दी जाएगी।

दक्षिण कोरिया : नाइट क्लब ने बढ़ाई मुसीबत

सियोल के एक नाइट क्लब में पहुंचे 29 साल के शख्स से दोबारा हुआ संक्रमण मुसीबत बन गया है। इस शख्स से 153 लोग संक्रमित हुए। सभी पॉजिटिव पाए गए हैं। प्रशासन ने अब तक इस मामले में 46 हजार लोगों के टेस्ट किए हैं। जानकारी के मुताबिक, पांच हजार 500 लोग इन क्लब्स में गए थे।

जर्मनी : बर्लिन में रेस्टोरेंट्स खुले

जर्मनी ने लॉकडाउन से कई राहतें दी हैं। राजधानी बर्लिन में भी रेस्टोरेंट्स खुल गए हैं। हालांकि, ये सशर्त है। सरकार ने एक बयान में कहा- समय आ गया है जब हम न्यू नॉर्मल को अपनाएं। यहां एक ही परिवार के लोग एक रेस्टोरेंट में आ सकते हैं। इन्हें सोशल डिस्टेंसिंग की जरूरत नहीं होगी। लेकिन, अगर दो परिवार एक ही रेस्टोरेंट में जुटते हैं तो उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग रखनी होगी।

Comments
Loading...
error: Content is protected !!