कोरोना वायरस : 23 राज्यों के 78 जिलों में पिछले 14 दिनों से कोरोना का कोई मामला नहीं

0 7

- Advertisement -

BY MANOJ KUMAR

नई दिल्ली : कोरोना वायरस से निपटने और लॉकडाउन के दौरान स्थितियों पर नियंत्रण के लिए गुरुवार को स्वास्थ्य और गृह मंत्रालय ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि देश के 12 जिलों में पिछले 28 दिनों में कोरोना वायरस का कोई नया मामला सामने नहीं आया है। देश के 23 राज्यों के 78 जिलों में पिछले 14 दिनों में कोरोना वायरस का कोई मरीज नहीं पाया गया है।

उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटों में 1409 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं,जिससे इन मामलों की संख्या बढ़कर 21,393 तक हो गई हैं। देश के अलग-अलग हिस्सों में कोरोना संक्रमण के कारण अब तक 681 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में 380 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हो गए हैं। इसी के साथ ही ठीक होने वालों की संख्या 4257 हो गई है। आईसीएमआर ने कहा कि हमारे सामने कोरोना एक बहुत बड़ी चुनौती है। हमारा मूलमंत्र यह है कि जिंदगी कैसे बचाएं? हम लगातार टेस्टिंग बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं।

अधिकार प्राप्त समूह -2 के अध्यक्ष और पर्यावरण सचिव सीके मिश्रा ने बताया कि हम कोरोना वायरस के ट्रांसमिशन में कटौती, फैलाव को कम करने और ड‍बलिंग की दर को बढ़ाने में सक्षम हुए हैं। हमने भविष्य के लिए स्वयं को तैयार करने के लिए इस समय का उपयोग किया है।

उन्होंने बताया कि 23 मार्च को हमने देश भर में 14,915 टेस्ट किए हैं और 22 अप्रैल को हमने 5 लाख से ज्यादा टेस्ट किए हैं। यदि इसकी गणना की जाए तो यह 30 दिनों में करीब 33 गुना होता है। यह पर्याप्त नहीं है और हमें लगातार इस मामले में आगे बढ़ना है और देश में टेस्टिंग को बढ़ाना है। उन्‍होंने बताया कि अभी हमारे पास 3,773 ऐसे अस्पताल हैं जिन्हें COVID19 के लिए चिन्हित किया गया है। कुल आइसोलेशन बैड 1,94,000 हैं। हमारी कोशिश यह है कि इसको हर दिन बढ़ाया जाए।

उन्होंने कहा कि हम लगभग उसी जगह पर आज हैं जहां हम एक महीने पहले थे, इसका मतलब साफ है कि स्थिति अभी बहुत बिगड़ी नहीं है। एक महीने पहले जो लोग टेस्ट हो रहे थे उनका लगभग 4-4.5 प्रतिशत पॉजिटिव आ रहे थे और अभी भी लगभग यही स्थिति बनी हुई है।

आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने कहा कि यह बताना बेहद मुश्किल है कि कोरोना वायरस का पीक 3 मई तक आएगा या कब आएगा, लेकिन यह काफी स्थिर है। पूरी दुनिया में पॉजिटिव होने की दर 4.5% है, हम कह सकते हैं कि हम कोरोना वायरस के ग्राफ को वक्र से समतल करने में हम सक्षम हुए हैं। हालांकि, इसके पीक पर जाने की भविष्यवाणी करना बेहद मुश्किल है।

गृह संयुक्त की संयुक्‍त सचिव पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने बताया कि मनरेगा में 1.5 करोड़ लोगों को रोजगार दिया गया है। गृह मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि वरिष्ठ नागरिकों की बैक साइड अटेंडेंट और देखभाल सेवाओं को प्रतिबंधों से छूट प्रदान की गई है। प्रीपेड मोबाइल की रिचार्ज सेवाओं, शहरी क्षेत्रों में स्थित खाद्य प्रसंस्करण उद्योग जैसे मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट, ब्रेड फैक्ट्री, आटा मिलों को भी छूट मिली हुई है। विद्यार्थियों के लिए शैक्षिक किताबों की दुकानों और गर्मी के मौसम को देखते हुए इलेक्ट्रिक पंखों की दुकानों को खोलने की अनुमति दे दी गई है।

Comments
Loading...
error: Content is protected !!