कोरोना से पूरी दुनिया में 20 लाख से ज्यादा संक्रमित, सवा लाख से ज्यादा की मौत; जानिए अब तक का पूरा आंकड़ा

0 11

- Advertisement -

कोरोना महामारी से पूरी दुनिया में अब तक बीस लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 10 लाख मरीज अकेले यूरोप के हैं। मरने वालों की तादाद भी 1,26,871 हो गई है। सत्तर फीसद मौतें अकेले यूरोप में हुई हैं। यूरोप के पांच देश इटली, स्पेन, ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी सर्वाधिक प्रभावित हैं। पूरी दुनिया में सबसे अधिक मौतें अमेरिका में हुई हैं। वहां मृतकों की संख्या 26 हजार के आंकड़े को पार कर गई है। स्पेन में पिछले चौबीस घंटों के दौरान 523 लोगों की मौत हुई है। एक दिन पहले यह संख्या 567 थी। देश में मृतकों की कुल संख्या 18,579 हो गई है। अमेरिका और इटली के बाद सर्वाधिक मौतें स्पेन में हुई हैं। एक दिन में संक्रमण के 5092 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 177,633 हो गई है। स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज ने कहा कि अभी फिलहाल हम बीस हजार टेस्ट प्रतिदिन कर रहे हैं और जल्द ही इनकी संख्या बढ़ाएंगे। सरकार ने कहा कि उसने पिछले सप्ताह बड़े पैमाने पर एंटीबॉडी टेस्ट की शुरुआत की। इसके लिए साठ हजार लोगों को चुना गया है, जिन पर तीन सप्ताह तक यह टेस्ट किया जाएगा।ईरानी संसद की रिपोर्ट में मृतकों की संख्या पर उठाया गया सवाल ईरानी संसद की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना से देश में मरने वालों की संख्या आधिकारिक आंकड़ों से दोगुनी हो सकती है। हालांकि ईरानी स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार को जारी की गई इस रिपोर्ट पर किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने से इन्कार किया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर विश्व स्वास्थ्य संगठन को दिए गए आंकड़े गलत हैं तो लोगों में इस बात का संदेह हमेशा बना रहेगा कि दूसरे दौर का संक्रमण कभी भी आ सकता है। ईरानी पार्लियामेंट रिसर्च सेंटर की 46 पन्नों की यह रिपोर्ट ऑनलाइन प्रकाशित की गई है। रिपोर्ट के छठे पन्ने में कहा गया है कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने सिर्फ उन्हीं लोगों का आंकड़ा जुटाया है, जिनकी मौत अस्पतालों में हुई है या फिर जो लोग संक्रमित मिले हैं। घर में होने वाली मौतों को इसमें शामिल नहीं किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ईरान में मृतकों की संख्या सरकारी आंकड़ों से 80 फीसद अधिक या फिर दोगुनी हो सकती है। जहां तक सकारात्मक मामलों की संख्या है तो यह सरकारी आंकड़ों से आठ से दस गुना अधिक हो सकती है। अब तक ईरान में महामारी से 4,777 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 76,389 लोग संक्रमित हैं।ब्रिटेन में कोरोना को लेकर राजनीति ब्रिटेन में कोरोना महामारी पर समय से रोक नहीं लगा पाने को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। विपक्षी लेबर पार्टी के नेता कीर स्टारमर ने कहा, ‘मुझे लगता है कि शुरुआत में ही हम लोगों को तेजी से फैसले लेने चाहिए थे । हमने यूरोपीय यूनियन के नेताओं द्वारा उठाए गए कदमों से कोई सीख नहीं ली।’ स्टारमर ने कहा कि पीएम ने तब कड़े कदम उठाए जब एक सर्वे से इस बात का पता चला कि इस बीमारी से ढाई लाख लोगों की जान जा सकती है। उन्होंने कहा कि आधिकारिक आंकड़ों के अुनसार अभी तक ब्रिटेन में 12 हजार लोगों की मौत हो चुकी। हालांकि वास्तविक आंकड़े इससे कहीं ज्यादा हो सकते हैं।जापान के पीएम ने फिर किया लोगों से घरों में रहने का आग्रह जापानी मीडिया में चार लाख लोगों की मौत की आशंका से संबंधित खबर आने के बाद प्रधानमंत्री शिंजो ने नागरिकों से घर में ही रहने की अपील की है। दरअसल, जापानी मीडिया में अपुष्ट सूत्रों से यह खबर छपी थी कि अगर तुरंत कड़े कदम नहीं उठाए गए तो महामारी से ना केवल चार लाख लोगों की मौत हो सकती है बल्कि साढ़े आठ लाख लोगों को वेंटीलेटर की जरूरत पड़ सकती है। जापान की राजधानी टोक्यो में बुधवार को संक्रमण के 127 नए मामले सामने आए। वहीं देश में इनकी संख्या 327 रही। दरअसल जापान में अभी उन्हीं लोगों का टेस्ट किया जा रहा है, जिनमें लक्षण दिखाई दे रहे हैं। अब तक वहां नौ हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि दो सौ लोगों की मौत हो चुकी है।दुनिया में आए कोरोना संकट के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु-जर्मनी में लॉकडाउन को तीन मई तक बढ़ा दिया गया है।-फिनलैंड ने राजधानी हेलसिंकी में प्रवेश पर लगे प्रतिबंध को हटा लिया है।-डेनमार्क में बुधवार से प्राथमिक से लेकर पांचवीं तक के स्कूल खुल गए। हालांकि बाकी कक्षाओं की पढ़ाई पूर्व की तरह ऑनलाइन ही होगी।-कोरोना महामारी से अर्थव्यवस्था पर पड़े असर से निपटने के लिए स्वीडन सरकार ने लगभग 76 हजार करोड़ रुपये का प्रबंध किया है।

Comments
Loading...
error: Content is protected !!