सलीब का प्यार

0 179

- Advertisement -

प्यार अगर तुम ढूंढते हो,
डालो एक नजर सलीब पर,
बहते लहू की बूंद हर ,
प्यार की गवाह आएगी नजर

धोखा जो दिया हो सभी ने तुम्हें,
ना हो कोई जिस पर हो यकीं
आज़मा के देखो यीशु को,
धोखे भूल जाओगे सभी

हो परेशान अगर जिंदगी से तेरी
नजरें ढूंढती हो सहारा कोई
नजरें टिका दे यीशु पर,
आस तेरी ना तोड़ेगा कभी

जोयसी जॉनसन

Comments
Loading...
error: Content is protected !!